उत्तराखंड में हनुमान जी ने किया एक और चमत्कार , देखें

Loading...

हमारे हिन्दू और भारतीय समाज में शायद ही कोई ऐसा होगा, जो रामायण के बारे में न जानता हो। वैसे आपको याद होगा कि रामायण में एक योद्धा था, जिन्होंने अकेले ही पूरी लंका को जला कर खाक कर दिया था। पर फिर भी रावण उनका कुछ नहीं बिगाड़ पाया था। सिर्फ इतना ही नहीं इसके इलावा सीता जी को ढूंढने के लिए पूरा समुन्द्र लांघ दिया और जब एक जड़ी बूटी की जरूरत पड़ी तो पूरा पहाड़ ही उठा लिया। जी हां हम यहाँ किसी और की नहीं, बल्कि हनुमान जी की ही बात कर रहे है।

यूँ तो भगवान् इस दुनिया के हर कण में बसते है, पर फिर भी अपनी मौजूदगी का एहसास वो समय समय पर अपने भक्तो को दिलाते रहते है। वैसे ऐसा माना जाता है, कि इस कलयुगी जीवन में केवल हनुमान जी ही ऐसे भगवान् है, जो आज भी यहाँ मौजूद है और धरती पर जीवित है। मगर वो कहाँ है, इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है।

हालांकि कुछ समय पहले उनके पैरो के निशान देखे गए थे। गौरतलब है, कि कुछ लोग इसे अंध विश्वास मानते है और कुछ लोग इसे सच तथा संयोग मानते है। अब ये अंध विश्वास है या सच्चाई, ये तो कहा नहीं जा सकता। पर हाल ही में उत्तरांचल में हनुमान जी के कुछ ऐसे निशान देखे गए है, कि जिसने भी उन निशानों को देखा वो ही दंग रह गया।

इन निशानों को देख कर ये कहना गलत नहीं होगा, कि अगर मानो तो पत्थर में भी भगवान है और अगर न मानो तो नहीं है। तो चलिए आपको भी भगवान् हनुमान जी के उन निशानों के दर्शन करवाते है, जो हाल ही में उत्तराखंड में दिखे है। बता दे कि उत्तरांचल के बद्रीनाथ से सिर्फ चार किलोमीटर दूर सतोपंथ के एक पहाड़ पर एक आकृति दिखी है, जो हुबहू भगवान् हनुमान जैसी दिखती है। ऐसे में हनुमान जी की इस आकृति को देखने के लिए लोग दूर दूर से सतोपंथ जा रहे है।

 

इसके इलावा सबसे हैरानी की बात तो ये है, कि इस आकृति में हनुमान जी के सर पर मुकुट भी देखा जा सकता है। गौरतलब है, कि वहां के लोगो का कहना है, कि इस पहाड़ पर अक्सर बर्फ ही रहती है। ऐसे में हो सकता है, कि इसी वजह से किसी ने इसे पहले नोटिस न किया हो। बता दे कि यह आकृति सबसे पहले बद्रीनाथ जाने वाले यात्रियों ने देखी है।

अब लोग चाहे कुछ भी कहे, पर वैज्ञानिक इसे नहीं मानते। जी हां हिमालय भू विज्ञानं संस्थान के वैज्ञानिको का कहना है, कि ऐसी आकृति जलवायु परिवर्तन के कारण चट्टानों पर बन जाती है। हालांकि भगवान् में विश्वास रखने वाले लोगो के लिए ये किसी चमत्कार से कम नहीं।

 

Loading...