इच्‍छाधारी नागिन का पुनर जन्म, देखने के लिए लगी लोगो की भीड़

Loading...

पुनर्जन्म की कहानियां तो आपने लोगों से सुनी ही होंगी पर क्‍या आप ने कभी किसी नागिन की कहानी सुनी है। शायद नहीं सुनी होगी और ये कहानी सुन कर आप हैरान हो जाएंगे। कहानी है यूपी के एक छोटे से गांव में रहने वाली एक एक लड़की की है। उस लड़की का दावा है कि उसे पता है कि वह अपने पूर्व जन्‍म में क्‍या थी। लड़की ने जो दावा है किया है वह सभी को चौंका कर रख देगा। गांव के लोग इस लड़की को नागिन मान कर इसकी पूजा करते हैं।

खुद को बताती है इच्‍छाधारी नागिन
भोपाल के गुना जिले के मृगवास से 6 किमी दूर स्थित जोहरीपुरा गांव की रहनेवाली 19 वर्षीय रचना अहिरवार को आसपास के गांव के लोग भी नागिन के नाम से जानते हैं। कुछ वर्ष पूर्व पड़ोस के गांव के एक युवक से रचना की शादी हुई थी। शादी के कुछ दिनो बाद ही रचना के अजीब बर्ताव की वजह से उसके ससुराल वाले उसे मायके छोड़ कर चले गए। रचना के ससुराल वालों ने बताया कि वह अचानक नागिन की तरह बर्ताव करने लगती है। उस दौरान रचना संभालना मुश्किल हो जाता है।


नाग है जिदां तो करती है नागिन जैसा बर्ताव
रचना बताती है कि पूर्व जन्‍म में वह एक नागिन थी। 20 साल पहले चरवाहों के एक समूह ने मारकर जला दिया था। रचना का कहाना है कि उस जन्‍म में उसका पति नाग अब भी जिंदा है। उस नाग की वजह से अक्सर उसके व्‍यवहार में परिवर्तन आने लगता है। रचना के पिता ने बताया कि वे अपनी बेटी को ठीक देखना चाहते हैं। एक आम पिता की तरह उन्हें भी अपनी बेटी की चिंता है। रचना के इस बर्ताव ने उसका जीवन बरबाद कर दिया है। उन्होंने कई बाबाओं और ओझा से रचना का इलाज करवाया पर कोई फायदा नहीं हुआ है।

गांव के लोग रचना को नागिन की तरह पूजते हैं
इस घटना के बाद उसे पूरा गाँव ही नहीं बल्कि आस-पास के गाँव के लोग भी नागिन के नाम से जानने लगे हैं। वे उसका नागिन की तरह ही सम्मान भी करते हैं। हालांकि एक तांत्रिक ने उसके अन्दर से कतिथ नागिन को निकालने का प्रयास भी किया था लेकिन उसके बाद भी कोई फायदा नहीं हो पाया। इस मामले में विशेषज्ञों की माने तो रचना किसी मानसिक बिमारी से ग्रस्त है। इसलिए उसे दवाओं और इलाज की ज़रूरत है।

Loading...