राजकुमार ने गोविंदा की शर्ट का बना लिया था रुमाल , गोविंदा ने जो किया हैरान हो जाओगे आप

Loading...

बॉलीवुड में राजकुमार जैसा अभिनेता शायद ही कोई दूसरा हो पाए. उनका सबसे जुदा अभिनय और दमदार डायलॉग डिलीवरी ऐसी होती थी कि दर्शक उन्हें परदे पर देखते ही तालियाँ बजाने लगते थे. आमतौर पर किसी भी अभिनेता की वास्तविक ज़िन्दगी और परदे की ज़िन्दगी में कोई साम्य होता नहीं है लेकिन राजकुमार जैसे दमदार रोल फिल्मों में करते थे, असल ज़िन्दगी में भी वैसे ही बेबाक थे. उनकी ज़िन्दगी से जुड़े कुछ किस्से बॉलीवुड में बहुत मशहूर हैं. आइये आपको बताते हैं उनकी ज़िन्दगी के कुछ रोचक किस्से …
जब राजकुमार ने गोविंदा की शर्ट का बना लिया था रूमाल
एक बार राजकुमार और गोविंदा एक फिल्म की शूटिंग कर रहे थे. गोविंदा झकाझक शर्ट पहने हुए राजकुमार के साथ शूटिंग खत्म होने के बाद वक्त बिता रहे थे. अचानक राजकुमार ने गोविंदा से कहा यार तुम्हारी शर्ट बहुत शानदार है. गोविंदा राजकुमार से तारीफ़ सुनकर खुश हो गए. बोले, “सर, अगर आपको यह शर्ट पसंद आ रही है तो आप रख लीजिये”. राजकुमार ने गोविंदा से वह शर्ट ले ली. दो दिन बाद गोविंदा ने देखा कि राजकुमार ने उस शर्ट को फाड़कर उसका रूमाल बनाकर अपनी जेब में रखा हुआ है.

जब बप्पी लहरी से कहा, “बस मंगलसूत्र की कमी रह गई”
संगीतकार बप्पी लहरी का स्वर्णप्रेम जगजाहिर है. अक्सर उन्हें सोने के भारीभरकम गहने पहने देखा जाता है. एक बार एक पार्टी के दौरान उनकी मुलाक़ात राजकुमार से हुई. अपनी आदत के मुताबिक, बप्पी ढेर सारे सोने के गहनों से लदे हुए थे. राजकुमार थे ही बेबाक बोलने वाले, उन्होंने बप्पी दा को ऊपर से नीचे तक गौर से देखा और कहा, “वाह, शानदार! एक से एक गहने पहने हो, सिर्फ मंगलसूत्र की कमी रह गई है, वो भी पहन लेते.” आप सोच सकते हैं बप्पी दा की क्या हालत हुई होगी.
जब राजकुमार ने अमिताभ बच्चन की भी ले ली चुटकी

एक पार्टी के दौरान राजकुमार और अमिताभ बच्चन की मुलाक़ात हुई. अमिताभ ने शानदार सूट पहना हुआ था. राजकुमार ने उनके सूट की प्रशंसा कर दी. स्वभाव से विनम्र अमिताभ बच्चन ने उन्हें उस जगह का पता बताना चाहा जहां से उन्होंने वह सूट सिलवाया था. लेकिन इससे पहले कि अमिताभ अपनी बात पूरी कर पाते, राजकुमार बोले, “दरअसल मुझे कुछ पर्दे सिलवाने थे.” बेचारे बिग बी बस मुस्कुराकर रह गए.
धर्मेन्द्र, जीतेन्द्र और बन्दर, हमारे लिए सब बराबर हैं\

राजकुमार का अपने साथी कलाकारों से विनोद करने का भी अपना एक स्टाइल था. अक्सर वे धर्मेन्द्र को जीतेन्द्र और जीतेन्द्र को धर्मेन्द्र कहकर बुलाते थे. एक बार धर्मेन्द्र को इस बात पर गुस्सा आ गया और बोले कि आप मुझे मेरे नाम से क्यों नहीं बुलाते ? राजकुमार अपनी ही स्टाइल में बोले, “राजेन्द्र हो या धर्मेन्द्र या जितेन्द्र या बंदर… क्या फर्क पड़ता है, जानी, राजकुमार के लिए सब बराबर हैं”
जीनत अमान से बोले, “फिल्मों में ट्राई करो न !”

बात उन दिनों की है जब जीनत अमान की लोकप्रियता बुलंदियों पर थी. देवआनंद की फिल्म ‘हरे रामा हरे कृष्णा’ का ‘दम मारो दम’ गाना हिट हो चुका था और जीनत अमान पूरे देश में पॉपुलर हो चुकीं थीं. बड़े बड़े फिल्म निर्माता उन्हें अपनी फिल्म में साइन करने के लिए मरे जा रहे थे. इसी दौर में एक पार्टी में जीनत की मुलाकात राजकुमार से हुई.
जीनत अमान ने सोचा कि उन्हें राजकुमार के मुँह से तारीफ़ के दो शब्द सुनने को मिलेंगे. लेकिन राजकुमार ने जीनत को देखा और कहा- “तुम इतनी सुंदर हो, फिल्मों में कोशिश क्यों नहीं करती?”.

प्रकाश मेहरा से कहा, “तुममें से बिजनौरी तेल की बदबू आती है”
प्रकाश मेहरा ‘जंजीर’ बना रहे थे और उसमें बतौर हीरो राजकुमार को लेना चाहते थे. लेकिन राजकुमार ने ऑफर ठुकरा दिया. जिस अंदाज़ में ठुकराया वह किस्सा भी बड़ा दिलचस्प है. उन्होंने प्रकाश मेहरा को ‘जंजीर’ का ऑफर ठुकराने की दो वजहें बताईं. पहली, “मुझे तुम्हारी सूरत अच्छी नहीं लगी”, और दूसरी, “तुम्हारे पास से बिजनौरी तेल की ऐसी बदबू आ रही है, हम फिल्म तो दूर तुम्हारे साथ एक मिनट और खड़ा रहना बर्दाश्त नहीं कर सकते”.

जब राजकुमार ने डैनी को कहा गोरखा
एक बार राजकुमार के पास एक प्रोड्यूसर आया जो उन्हें अपनी फिल्म में लेना चाहता था लेकिन पैसे कम दे रहा था. राजकुमार ने पूछा, “कितने पैसे दोगे ?”. प्रोड्यूसर ने पैसे बताये तो राजकुमार बोले, “इतने पैसे में तो उस गोरखे को ले जाओ.” बॉलीवुड में मशहूर है कि उनका इशारा डैनी की तरफ था.

राजकुमार के नखरे भी अजब थे
फिल्म ‘नीलकमल’ की शूटिंग हो रही थी. पहले ही शॉट में राजकुमार अड़ गए कि वे नकली आभूषण पहन कर काम नहीं करेंगे. अब निर्माता बेचारा परेशान. पर राजकुमार तो फिर राजकुमार थे, कहाँ मानने वाले थे. आखिर बेचारे को कहीं से किलो भर असली आभूषणों का इंतजाम करना पड़ा तब कहीं जाकर राजकुमार ने शूटिंग की.

Loading...