जनाब ऐसी सुचना सिर्फ भारत की दुकानों पर ही मिलेगी ! और कहीं नहीं

Loading...

#1 सोच समझ कर गाड़ी खड़ी करना
#2 बिलकुल आर्डर देंगे भाई, क्यों नहीं देंगे ?

#3 एकदम सच्ची बात लिखी है
#4 सीधे सीधे ही लिख देते कि उधार देना मना है
#5 गज़ब का सेंस ऑफ़ ह्यूमर है
#6 इस शायरी पर तो ग़ालिब का पूरा दीवान कुर्बान
#7 साफ़ कहना, खुश रहना
#8 अब इतने भी चुप नहीं रहते थे हमारे पूर्व प्रधानमंत्री जी
#9 भले ही लिख दो, मानेगा कोई नहीं
#10 अब तो दिला ही दो मम्मी जी

Loading...